https://youtu.be/6DDyjztLnBo

वर्तमान परिदृश्य में बांझपन एक गंभीर विषय है। यह अनुमान लगाया जाता है कि पूरी दुनिया में हर छह में से एक दम्पत्ति बांझपन के शिकार हैं। बांझपन प्रजनन प्रणाली की एक बीमारी है जो 12 महीने या उस से ज़्यादा की अवधि के नियमित असुरक्षित संभोग के बाद भी नैदानिक ​​गर्भावस्था को प्राप्त करने में विफलता के रूप में परिभाषित होती है। आज आयुर्वेद में बांझपन के कारकों के अनेक उपचार उपलब्ध हैं।

Infertility is a serious issue in the present scenario. It is estimated that the 1/6 th of the couples in entire world suffer from infertility. Infertility is a disease of the reproductive system defined by the failure to achieve a clinical pregnancy even after 12 months or more time period of regular unprotected sexual intercourse. There are many treatments available in Ayurveda depend on the cause of infertility.